देश की तस्वीर बदलने वाले डॉ. वर्गीज कुरियन के रोचक तथ्य

देश की तस्वीर बदलने वाले डॉ. वर्गीज कुरियन के रोचक तथ्य
देश की तस्वीर बदलने वाले डॉ. वर्गीज कुरियन के रोचक तथ्य

एक समय ऐसा था कि जब भारत काफी गरीब होता था पर भारत में श्वेत क्रांति के जनक डॉ. वर्गीज कुरियन के एक आइडिया ने देश की तस्वीर बदल दी। आज हम आपको उनके बारे में बता रहे हैं। देश की तस्वीर बदलने देश की तस्वीर बदलने 

1.भारत में हर साल 26 नवंबर को नेशनल मिल्क डे मनाया जाता है।

2. डॉ. वर्गीज कुरियन का जन्म केरल के कोझिकोड में एक सीरियाई ईसाई परिवार में नवंबर 1921 को हुआ था।

3. डॉ वर्गीज ने लॉयला कॉलेज से साल 1940 में स्नातक करने के बाद चेन्नई के गिंडी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से डिग्री प्राप्त की।

4. डॉक्टर वर्गीज कुरियन को डेयरी इंजीनियरिंग में अध्ययन करने के लिए भारत सरकार की तरफ से स्‍कॉलरशिप भी मिली। साल 1948 में मिशीगन स्टेट यूनिवर्सिटी से डॉक्टर वर्गीज कुरियन ने मैकेनिकल इंजीनियरिंग की मास्टर डिग्री हासिल की।जिसमें डेयरी इंजीनियरिंग भी उनके पास एक विषय था।

5. देश को दूध उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाने और किसानों की दशा सुधारने के लिए उन्होंने त्रिभुवन भाई पटेल के साथ मिलकर खेड़ा जिला सहकारी समिति शुरू की।

6. साल 1949 में कुरियन ने गुजरात में दो गांवों को सदस्य बनाकर डेयरी सहकारिता संघ की स्थापना की थी। कुरियन दुनिया के पहले व्यक्ति थे जिन्होंने भैंस के दूध से पाउडर का निर्माण किया था। इससे पहले दूध कंपनी गाय के दूध से बने पाउडर का ही निर्माण करती थी।

7. उन्हें रैमन मैगसेसे, पद्म विभूषण और वर्ल्ड फूड प्राइज जैसे अवॉर्ड से भी नवाज गया हैं।

8. देश में श्वेत क्रांति लाने वाले ‘फादर ऑफ द व्हाइट रेवेल्यूशन’ कुरियन के आइडिया ‘ऑपरेशन फ्लड’ ने भारत की मिल्क इंड्स्ट्री को हमेशा-हमेशा के लिए बदल के रख दिया।

यह भी जरूर पढे :

सर्दियों में आखिर क्यों बढ़ जाता हैं वजन, जाने ये हैं असली वजह

हाई बीपी से है परेशान तो जानिए इसके शुरुआती लक्षण

प्रियंका चोपड़ा कभी नहीं करना चाहती अपने पति के साथ ये काम, जाने

नाश्ते में न खाए ये चीजें रहेगी आपकी बॉडी एकदम फिट

Comments

comments