शिवसेना देखती रह गई और बीजेपी ने सरकार बना दी

शिवसेना देखती रह गई और बीजेपी ने सरकार बना दी
शिवसेना देखती रह गई और बीजेपी ने सरकार बना दी

पिछले कुछ समय से चल रहे महाराष्ट्र का ड्रामा का आखिरकार आज अंत हो ही गया। हर आज सुबह 8 बजे बीजेपी के देवेन्द्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री और एनसीपी के अजीत पवार ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। अगर देखा जाए तो बड़ी तेजी से घटनाक्रम बदल गए हैं क्योंकि कल शाम तक तीनों पार्टी ने मिलकर उद्धव ठाकरे के नाम पर सहमति बनी थी।  शिवसेना देखती रह गई शिवसेना देखती रह गई

शिवसेना की हालत हिन्दी की कहावत के अनुसार ‘ धोबी का कुत्ता घर का न घाट का 

इस बार चुनाव का रिजल्ट आने के बाद से ही शिवसेना मुख्यमंत्री पद को लेकर हठ करके बैठ गई जैसे वो कोई छोटा बच्चा हो। लेकिन होता वही है जो मिया चाहे , जी हाँ आपने सही सुना अमित शाह की चुप्पी बहुत कुछ कह रही थी। शायद ये तूफान से पहले की शांति थी। शिवसेना ने मुख्यमंत्री बनने के लिए अपने मूलभूत सिद्धांत को ही भूल गई। वो ये भूल गई कि वो ऐसे पार्टी के साथ गठबंधन करने को तैयार हो गई जो हिन्दू विरोधी पार्टी होने का टैग लगा हो यानि वो सबको धोखा दे रही थी।

शपथ के बाद क्या कहा देवेन्द्र फडणवीस

सीएम बनने के बाद फडणवीस का बयान फडणवीस ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी, अमित शाह जी और जेपी नड्डा जी का आभार व्यक्त करता हूं उन्होंने महाराष्ट्र की सेवा करने का मौका दिया। जनता ने हमें स्पष्ट जनादेश दिया था लेकिन शिवसेना ने हमारा साथ छोड़कर किसी और जगह गठबंधन करना शुरू कर दिया। जिसके चलते महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू हुआ। महाराष्ट्र जैसे राज्य में यह कितने समय लागू रहे यह शोभा भी नहीं देता है। इसके चलते महाराष्ट्र को एक स्थिर सरकार की जरूरत थी खिचड़ी सरकार की नहीं।

अंत में मैं राष्ट्रवादी पार्टी के नेता अजित पवार को धन्यवाद देना चाहूंगा कि उन्होंने हमारा साथ दिया। उन्होंने कहा कि हमारे साथ कई अन्य लोग भी आएं हैं। हमारा दावा राज्यपाल का पेश किया। राज्यपाल जी ने राष्ट्रपति जी से अनुशंस की कि वह राष्ट्रपति शासन वापस लें। इसके बाद राज्यपाल ने सरकार बनाने का न्यौता दिया। महाराष्ट्र में स्थिर और स्थाई सरकार दे पाएंगे। अजीत पवार बोले- डिप्टी सीएम अजीत पवार ने कहा कि 24 तारीख को नतीजे आए और किसी की सरकार नहीं बनी। बहुत समस्या थी जिसमें किसानों की समस्या थी। सरकार आती है तो रास्ता निकालने में मदद हो सकती है। इसलिए हम सब ने यह निर्णय लिया।

यह  भी जरूर पढे :

सोनम कपूर का फैशन आपकी बजट में, आपका लुक बनेगा स्टाइलिश

Comments

comments