RSS (Rashtriya Swayamsevek Sangh) के बारे में कौन नहीं जानता। इस संघटन कई बार आरोप लग चुके है और यह अपनी अलग विचारधारा के लिए अक्सर चर्चा में रहता है। लेकिन RSS से जुडी कई ऐसी बाते है जो कोई नहीं जानता तो आइये जानते है आरएसएस से जुड़े कुछ ऱोचक तथ्य और साथ ही उसके इतिहास के बारे में कुछ अनसुनी बाते भी ।

1. RSS की स्थापना करीब 91 साल पहले 27 सितम्बर सन् 1925 में हुई थी।

2. RSS के संस्थापक डॉ॰ केशव बलिराम हेडगेवार है।

3. RSS का उद्देश्य हिन्दू राष्ट्रवाद की वकालत करना है। इसका मुख्यालय नागपुर , महाराष्ट्र में है।

4. RSS की देशभर में करीब 60,000 से भी ज़्यादा शाखाएं है।

5. RSS भारतीय जनता पार्टी(BJP) का व्यापक रूप से पैतृक संगठन माना जाता हैं।

6. बीबीसी के अनुसार आरएसएस विश्व का सबसे बड़ा स्वयंसेवी संस्थान है।

7. आरएसएस की स्थापना विजयदशमी पर हुई थी।

8. आरएसएस के सरसंघचालक मोहन भागवत है। जो ब्राह्मण जाति से संबंध रखते है।

9. मोहन भागवत जी भारत के उन लोगो में से है जिन्हें Z+ सुरक्षा दी जाती है।

10. महात्मा गांधी की हत्या के बाद RSS का नाम उछाला गया था। कहा गया कि गोडसे RSS का ही सदस्य है जबकि गोडसे ने RSS को सन् 1930 में ही छोड़ दिया था। इसी समय पूरी दुनिया को पता चला की भारत में कोई राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ नाम का कोई संगठन भी है।

11. उस समय सरदार वल्लभ भाई पटेल ने RSS पर बैन लगा दिया था और नेहरू चाहते थे कि RSS को हमेशा के लिए बैन कर दिया जाए।

12. आरएसएस की पहली शाखा में सिर्फ 5 लोग(संघी) शामिल हुए थे और आज हर एक शाखा में लगभग 100 स्वयंसेवक है।

13. RSS में महिलाएँ को शामिल होने की अनुमति नही है।

14. आरएसएस की सुबह लगने वाली शाखा(Class) को ‘प्रभात शाखा‘ कहते है। शाम को लगने वाली शाखा को ‘सायं शाखा‘ कहते है।

15. आरएसएस की शाखाओं में शाखा के अंत में एक प्रार्थना गाई जाती है “नमस्ते सदा वत्सले…” यह संघ की स्थापना के 15 साल बाद गाई जाने लगी।

16. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखाएं सिर्फ भारत में ही नही बल्कि दुनिया के 40 देशो में है।

17. शायद आप सभी जानते होंगे की आरएसएस की ड्रेस में काली टोपी, सफेद शर्ट, कपड़े की बेल्ट, खाकी निक्कर, चमड़े के जूते है। लेकिन अब खाकी निकर की जगह पूरी पैंट कर दी गई है।

18. RSS का अपना भगवा रंग का एक अलग झंडा भी है और आरएसएस किसी आदमी को नही बल्कि भगवा ध्वज को ही अपना गुरू मानती है।

19. आरएसएस ने सन् 1962 में भारत-चीन के युद्ध में सरकार का पूरा साथ दिया था।

20. RSS के प्रचारक को संघ के लिए काम करते समय तक अविवाहित ही रहना होता है।

21. RSS की सबसे ऱोचक बात यह है कि RSS में सिर्फ हिन्दू ही नहीं बल्कि मुस्लिम भी है। सन् 2002 से RSS एक ‘Muslim Rashtriya Manch’ नाम की विंग चलाती है। जिसमें लगभग 10,000 मुस्लिम है।

22. नरेंद्र मोदी समेत कई दिग्गज भाजपा नेता आरएसएस के प्रचारक रह चुके है।

23. RSS के सदस्य अपने ज्यादातर काम खुद ही करते है जैसे कपड़े धोना, भोजन बनाना आदि।

Read More:-

दुनिया का एक ऐसा मंदिर जहाँ राजा राम आज भी राजा…

जब औरंगजेब ने Kashi Vishwanath मंदिर को तोड़ा था, सच क्रूरता…

धारा 370 और इसका इतिहास, 370 कब शुरू हुई और इसका…

Comments

comments

इस ऑफर का लाभ उठाने के लिए अभी क्लिक करे:-
Loading...