Azad Status Swabhiman Status, Quotes Of Chandrashekhar Azad

Azad Status Swabhiman Status, Quotes Of Chandrashekhar Azad:-

 

 

  • “दुश्मनों की गोलियों का सामना हम करेंगें,,,,,,,,,, आजाद है, आजाद ही रहेंगें।”

 

  • “एक प्लेन (वायुयान) जमीन पर सदैव सुरक्षित रहता है,,,,,,, किन्तु उसका निर्माण इसलिये नहीं हुआ बल्कि इसलिये हुआ है,,,,,,,, कि वह कुछ उद्देश्यपूर्ण खतरों को उठाकर जीवन की ऊँचाईयों को छूऐ।”

 

  • “जब संसार तुम्हें घुटनों पर ले आये…… तो याद रखो कि तुम प्रार्थना करने की…. सबसे अच्छी स्थिति में हो”

 

  • “जीवन के तीन साधारण नियम हैः- यदि जो आप चाहते हो उसका पीछा नहीं करोगे……. तो उसे कभी पा नहीं सकते; यदि कभी पूछोगें नहीं…….. तो उत्तर सदैव ना रहेगा; यदि आप आगे के लिये कदम नहीं उठाओगे..,,,,,, तो आप सदैव उसी स्थान पर रहोगे। इसलिये उसे पाने के लिये आगे बढ़ो”

 

  • “जब गाँव के सभी लोग बारिश के लिये प्रार्थना करने का निश्चय करते है,,,,,,,, उस प्रार्थना वाले दिन केवल एक व्यक्ति छाते के साथ आता है – यही विश्वास है”,,,,,!!

 

  • “हर रात जब हम सोने के लिये बिस्तर पर जाते है,,,,,,, हम नहीं जानते कि हम कल सुबह उठेगें भी या नही,,,, फिर भी हम आने वाले कल की तैयारी करते है – इसे ही आशा कहते है”।

 

  • “जब आप बच्चे को हवा में उछालते हो….. तो वह बच्चा हँसता है क्योंकि वह जानता है,,,,, कि आप उसे पकड़ लोगे – यही भरोसा है”…..!!

 

  • “यह मत देखों कि दूसरे तुम से बेहतर कर रहे है,,,,,, प्रतिदिन अपने ही रिकार्ड को तोड़ो ,,,,, क्योंकि सफलता सिर्फ तुम और तुम्हारे बीच का…. संघर्ष है।”

 

  • “यदि आप अभी और कभी नाकाम नहीं हुये हो…… तो यह इस बात का संकेत है कि…… आप कुछ बहुत नया नहीं कर रहे हो।”

 

  • भारत की फ़जाओं को सदा याद रहूँगा,,,,,,,,, आज़ाद था, आज़ाद हूँ, आज़ाद रहूँगा….!!

Azad Status Swabhiman Status

 

आजाद द्वारा लिखी उनकी रचना भी उल्लेखनीय है:-

‘मां हम विदा हो जाते हैं,,,, हम विजय केतु फहराने आज,,,
तेरी बलिवेदी पर चढ़कर मां,,,, निज शीश कटाने आज।
मलिन वेष ये आंसू कैसे,,, कंपित होता है क्यों गात?
वीर प्रसूति क्यों रोती है,,,, जब लग खंग हमारे हाथ।
धरा शीघ्र ही धसक जाएगी,,, टूट जाएंगे न झुके तार,
विश्व कांपता रह जाएगा,,, होगी मां जब रण हुंकार।
नृत्य करेगी रण प्रांगण में,,, फिर-फिर खंग हमारी आज,
अरि शिर गिराकर यही कहेंगे,,, भारत भूमि तुम्हारी आज।
अभी शमशीर कातिल ने,,, न ली थी अपने हाथों में।
हजारों सिर पुकार उठे,,,, कहो दरकार कितने हैं।।’
Azad Status Swabhiman Status

आजाद के ठाठ तो फकीराना थे ही,,,, उनका जीवन सादा पर विचार उच्च थे। कवि श्यामपाल सिंह ने आजाद के बारे में लिखा है:-

 

‘स्वतंत्रता रण के रणनायक… अमर रहेगा तेरा नाम,
नहीं जरूरत स्मारक की….. स्मारक खुद तेरा नाम।
स्वतंत्र भारत नाम के आगे जुड़ा…. रहेगा तेरा नाम,
भारत का जन-मन-गण ही अब… बना रहेगा तेरा धाम।।’
Azad Status Swabhiman Status

15 अगस्त AAZADI की शायरियाँ (15 August Shayari):-

 

जशन आज़ादी का मुबारक हो देश वालो को,,,, फंदे से मोहब्बत थी हम वतन के मतवालो को…!!

वो तिरंगे वाले DP हो तो लगा लेना भाई जी,,,, सुना है कल देशभक्ति दिखने वाली तारीख हैं….!!

 

मरने के बाद भी जिसके नाम मे जान हैं,,,, ऐसे जाबाज़ सैनिक हमारे भारत की शान है…!!

 

फना होने की इज़ाजत ली नहीं जाती,,,,, ये वतन की मोहब्बत है जनाब पूछ कर की नहीं जाती…. वंदे मातरम

 

मेरे जज्बातों से इस कदर वाकिफ हैं मेरी कलम,,,, मैं इश्क भी लिखना चाहूँ तो इक़बाल लिखा जाता हैं…!!

Azad Status Swabhiman Status

 

 

स्वतंत्रता के लिए लाखों लोगों ने अपना जीवन बलिदान कर दिया…… लेकिन कुछ स्वार्थी लोगों के कारण हमें सही स्वतंत्रता नहीं मिली – अन्ना हज़ारे

 

आततायी कभी स्वेछा से आज़ादी नहीं देता,,,,,,, पीड़ितों द्वारा इसकी मांग की जानी चाहिए,,,,,. – मार्टिन लूथर किंग जूनियर

 

उन आँखों की दो बूंदों से सातों सागर हारे हैं,,,,,,,,, जब मेहँदी वाले हाथों ने मंगल-सूत्र उतारे हैं…..!!

 

आर्मी तो है देश की शान,,,,,, जिन्दादिली है जिसकी पहचान…….!!

 

कुछ तो बात है मेरे देश की मिट्टी में साहेब,,,,,,,,, सरहदें कूद के आते हैं यहाँ दफ़न होने के लिए……!!

 

वो ज़िन्दगी ही क्या जिसमे देशभक्ति ना हो…….. और वो मौत ही क्या जो तिरंगे में ना लिपटी हो…..!!

 

शहीदों के त्याग को हम बदनाम नही होने देंगे,,,,,,, भारत की इस आजादी की कभी शाम नही होने देंगे,,,,,,,!!

 

लिपट कर बदन कई तिरंगे में आज भी आते हैं,,,,,,, यूँ ही नहीं दोस्तों हम ये पर्व मनाते हैं…….!!

 

देश भक्तों के बलिदान से स्वतंत्र हुए हैं हम,,,,,,, कोई पूछे कौन हो तो गर्व से कहेंगे भारतीय हैं हम…….!!

 

अब तक जिसका खून न खौला,,,,,,वो खून नहीं वो पानी है ,,, जो देश के काम ना आये, वो बेकार जवानी है…!!

Azad Status Swabhiman Status

 

जिस दिन रास्ते पर तिरंगा बैचने वाले बच्चे न दिखे,,,,,,,, उस दिन सोचना हम आज़ाद हो गये…..!!

 

जिन की पत्नी वेकेशन करने मायके चली गई है,,,,,,, वो स्टेटस पर तिरंगा लगा कर अपनी आज़ादी का ऐलान कर सकते हैं.,,,,,,!!

 

मैं भारत बरस का हरदम अमित सम्मान करता हूँ….  यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,,,, मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,,,, तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ….!!

 

मेरा “हिंदुस्तान” महान था,,,, महान हैं और महान रहेगा,,,, होगा हौसला सबके दिलो में बुलंद,,, तो एक दिन पाक भी जय हिन्द कहेगा…….!!

 

काश मेरी जिंदगी मे सरहद की कोइ शाम आए…. मेरी जिंदगी मेरे वतन के काम आए….. ना खौफ है मौत का ना आरजु है जन्नत की… लेकीन जब कभी जीक्र हो शहीदो का…. काश मेरा भी नाम आए. काश मेरा भी नाम आए…!!

 

ना मरो सनम बेवफा के लिए,… दो गज़ जमीन नहीं मिलेगी दफ़न होने के लिए,,,,, मरना हैं तो मरो वतन के लिए,
हसीना भी दुप्पट्टा उतार देगी तेरे कफ़न के लिए…!!

Azad Status Swabhiman Status

 

कुछ नशा तिरंगे की आन का हैं,,,, कुछ नशा मातृभूमि की शान का हैं,,,, हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा,,,, नशा ये हिन्दुस्तान की शान का हैं….. भारत माता की जय

 

आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगे…. शहीदों की कुर्बानी बदनाम नहीं होने देंगे…. बची हो जो एक बूंद भी लहू की,
तब तक भारत माता का आँचल नीलाम नहीं होने देंगे…. स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं

 

भारत का वीर जवान हूँ मैं,,,, ना हिन्दू, ना मुसलमान हूँ मैं,,,, जख्मो से भरा सीना हैं मगर,… दुश्मन के लिए चट्टान हूँ मैं,,,, भारत का वीर जवान हूँ मैं….!!

 

देश भक्तों को अक्सर लोग पागल कहते हैं…. कह दो उन्हें… सीने पर जो जख्म हैं…. सब फूलों के गुच्छे हैं.
हमें पागल ही रहने दो, हम पागल ही अच्छे हैं…. वन्दे मातरम

 

कभी ठंड में ठिठुर कर देख लेना,,,, कभी तपती धूप में जल के देख लेना,,,, कैसे होती हैं हिफ़ाजत मुल्क की,,,, कभी सरहद पर चल के देख लेना,,, जय हिन्द, जय भारत

 

चलो फिर से आज वह नज़ारा याद कर ले,,,,, शहीदों के दिल में थी वो ज्वाला याद करले,,,, जिसमे बहकर आज़ादी पहुंची थी किनारे पे,,,, देशभक्तो के खून की वो धारा याद करले….!!

 

मुस्लिम हूँ, तू हिन्दू है, है दोनों इंसान,,,, ला मैं तेरी गीता पढ़ लूँ, तू पढ़ ले कुरान,,,, इस स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर
हैं मेरा बस एक ही अरमान… एक थाली में खाना खाए सारा हिन्दुस्तान….!!

 

इश्क़ तो करता हैं हर कोई…. मेहबूब पे मरता हैं हर कोई,,,, कभी वतन को मेहबूब बना कर देखो… तुझ पे मरेगा हर कोई…..!!

 

ना पूछो ज़माने को,,,, क्या हमारी कहानी हैं… हमारी पहचान तो सिर्फ ये हैं… की हम सिर्फ हिंदुस्तानी हैं…!!

 

तन हमारा ऐसे ना छोड़ पाए कोई,,,,, रिश्ता हमारा ऐसे ना तोड़ पाए कोई,,,, दिल हमारे एक है एक है हमारी जान,,,, हिंदुस्तान हमारा हैं हम हैं इसकी शान….!!

 

मैं मुल्क की हिफाजत करूँगा….. ये मुल्क मेरी जान है… इसकी रक्षा के लिए… मेरा दिल और जां कुर्बान है….!!

 

हम आजाद हैं, ये आजादी कभी छिनने नहीं देंगे,,,, तिरंगे की शान को हम कभी मिटने नहीं देंगे,,, कोई आंख भी उठाएगा जो हिंदुस्तान की तरफ,,, उन आंखों को फिर दुनिया देखने नहीं देंगे…!!

 

चिंगारी आजादी की सुलगी मेरे जश्न में हैं,,,, इन्कलाब की ज्वालाएं लिपटी मेरे बदन में हैं,,,, मौत जहाँ जन्नत हो ये बात मेरे वतन में हैं,,,, कुर्बानी का जज्बा जिन्दा मेरे कफन में हैं….!!

Azad Status Swabhiman Status

 

लड़ें वो वीर जवानों की तरह,,,, ठंडा खून फ़ौलाद हुआ,,,, मरते-मरते भी मार गिराए,,,, तभी तो देश आज़ाद हुआ…!!

 

कहते हैं अलविदा हम अब इस जहान को,,,,, जा कर ख़ुदा के घर से अब आया न जाएगा,,,, हमने लगाई आग हैं जो इंकलाब की,,,, इस आग को किसी से बुझाया ना जाएगा….!!

 

गंगा यमुना यहाँ नर्मदा,,,, मंदिर मस्जिद के संग गिरजा,,,, शांति प्रेम की देता शिक्षा,… मेरा भारत सदा सर्वदा..!!

 

तीन रंग का नही वस्त्र, ये ध्वज देश की शान हैं,,,, हर भारतीय के दिलो का स्वाभिमान हैं,,,, यही है गंगा, यही हैं हिमालय, यही हिन्द की जान हैं,,, और तीन रंगों में रंगा हुआ ये अपना हिन्दुस्तान हैं….!!

 

देश के उन वीर जवानों को सलाम,,, जो सुरक्षा का एहसास दिलाते हैं,,,, जो हथेली पर रखकर जान,,,, हमारी हिफाजत का जिम्मा उठाते हैं….!!

 

यदि प्रेरणा शहीदों से नहीं लेंगे,,, तो ये आजादी ढलती हुई साँझ हो जायेगी,,, और पूजे न गए, वीर… तो सच कहता हूँ कि नौजवानी बाँझ हो जायेगी….!!

 

मुकम्मल है इबादत और मैं वतन ईमान रखता हूँ,,,,, वतन के शान की खातिर हथेली पे जान रखता हूँ…. क्यु पढ़ते हो मेरी आँखों में नक्शा पाकिस्तान का,…. मुस्लमान हूँ मैं सच्चा, दिल में हिंदुस्तान रखता हूँ…. हिंदुस्तान ज़िंदाबाद, जय हिन्द, जय भारत

 

ये पेड़ ये पत्ते ये शाखें भी परेशान हो जाएं….. अगर परिंदे भी हिन्दू और मुस्लमान हो जाएं…. न मस्जिद को जानते हैं , न शिवालों को जानते हैं…. जो भूखे पेट होते हैं, वो सिर्फ निवालों को जानते हैं…..!!

 

मेरा यही अंदाज ज़माने को खलता है….. की मेरा चिराग हवा के खिलाफ क्यों जलता है…. में अमन पसंद हूँ, मेरे शहर में दंगा रहने दो….. लाल और हरे में मत बांटो, मेरी छत पर तिरंगा रहने दो…!!

 

संस्कार और संस्कृति की शान मिले ऐसे,,,, हिन्दू मुस्लिम और हिंदुस्तान मिले ऐसे… हम मिलजुल के रहे ऐसे की
मंदिर में अल्लाह और मस्जिद में राम मिले जैसे….!!

 

हम आजाद हैं, ये आजादी कभी छिनने नहीं देंगे…. तिरंगे की शान को हम कभी मिटने नहीं देंगे… कोई आंख भी उठाएगा जो हिंदुस्तान की तरफ… उन आंखों को फिर दुनिया देखने नहीं देंगे… वन्दे मातरम, जय हिन्द

Azad Status Swabhiman Status

 

Read More:-

Celebrity students quotes, Fadu College status (Updated)

Story of Veer Abdul Hameed, वीर अब्दुल हमीद की कहानी

आज़ादी की लड़ाई का सच- चंद्रशेखर आज़ाद की मौत व राष्ट्रभक्ति (असली राज)

Comments

comments