हिंदी कविता

Hindi Kavita for all movements

दहेज की बारात (काका हाथरसी) की बेहतरीन कविता, दहेज़ पर कविता:- हास्यावतार स्वर्गीय श्री काका हाथरसी जी को श्रद्धांजली दहेज की बारात (काका हाथरसी) आप भी पढ़कर आनंद उठाएं...   जा दिन एक बारात को मिल्यौ निमंत्रण-पत्र, फूले-फूले हम फिरें, यत्र-तत्र-सर्वत्र, यत्र-तत्र-सर्वत्र, फरकती बोटी-बोटी, बा दिन अच्छी नाहिं लगी अपने घर रोटी, कहं 'काका' कविराय, लार म्हौंड़े...
इस कविता के अंत में कोई कसम नहीं है क्योंकि ये कविता इतनी अच्छी है आप खुद शेयर किये बिना नहीं रह पाओगे :- माँ पर सबसे बेहतरीन कविता : लेती नहीं दवाई "माँ", जोड़े पाई-पाई "माँ"। दुःख थे पर्वत, राई "माँ", हारी नहीं लड़ाई "माँ"। माँ पर सबसे बेहतरीन कविता   इस दुनियां में सब...
शायद उस दिन, जो हिन्दू होगा एक बार जरुर पढ़ेगा, बहुत कडवी सच्चाई? भारतीय सभ्यता के हो रहे नाश पे इससे बेहतर पंक्तियाँ हो ही नहीं सकती शेयर करना न भूलें :- शायद उस दिन...! मेरे परदादा संस्कृत और हिंदी जानते थे। माथे पे तिलक और सर पर पगड़ी बाँधते थे।। फिर मेरे दादा...
*हास्य कविता* फनी पोएम अक्ल बाटने लगे विधाता ! पढ़ें और शेयर कर ओरो को हसायें :-  ??????? अक्ल बाटने लगे विधाता, लंबी लगी कतारी । सभी आदमी खड़े हुए थे, कहीं नहीं थी नारी । सभी नारियाँ कहाँ रह गई, था ये अचरज भारी । पता चला ब्यूटी पार्लर में, पहुँच गई थी सारी। फनी पोएम अक्ल बाटने लगे...
Dard Bhari Shayari poem in Hindi :- Dard Bhari Shayari poem in Hindi     वो प्यार का सबूत दिखाया करता था, आँसू बहा कर मुझे मनाया करता था! यह ज़िंदगी सिर्फ़ तुमसे वाबस्ता है, अक्सर यह बात मुझे बताया करता था! उसकी बातों में कुछ ऐसा असर था, मैं बारिश के बिना ही भीग जाया करता था! सोने...
पुरानी गर्ल फ्रेंड से भेट! हास्य कविता :- पुरानी गर्ल फ्रेंड से भेट हास्य कविता एक दिन दफ्तर से घर आते हुए पुरानी गर्ल फ्रेंड से भेट हो गयी, और जो बीवी से मिलने की जल्दी थी वह ज़रा से लेट हो गयी; जाते ही बीवी ने आँखे दिखाई, -आदतानुसार हम पर...

Get in touch

48,827FansLike
1,252FollowersFollow
242FollowersFollow

पॉपुलर पठित लेख ⇓