Home IndianDiary Special

IndianDiary Special

आखिरी चरण का चुनाव नज़दीक आते ही गोरखपुर का मामखोर गांव एक बा एक सुर्खियों में आ गया है.. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गढ़ माने जाने वाले गोरखपुर में 2018 में हुए उपचुनाव में बाज़ी समाजवादी पार्टी ने मार ली.. लिहाज़ा अब बीजेपी और योगी आदित्यनाथ पर इस सीट...
ओडिशा की आध्यात्मिक नगरी में केंद्रपाड़ा शुमार करती है. मान्यता कहती है कि भगवान कृष्ण के बड़े भाई बलराम ने यहीं केंद्रसुर का वध कर उसकी पुत्री से विवाह किया और फिर यहीं बस गए. ओडिशा की आध्यात्मिक नगरी में केंद्रपाड़ा शुमार करती है. मान्यता कहती है कि भगवान कृष्ण...
लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) के मद्देनजर बिहार (Bihar) में सातवें व अंतिम चरण का मतदान 19 मई को होगा. इस दौरान काराकाट (Karakat), नालंदा, पटना साहिब, पाटलिपुत्र, आरा, बक्सर, सासाराम और जहानाबाद लोकसभा क्षेत्रों में मतदान होगा. काराकाट सीट पर मुख्य मुकाबला नेशनल डेमोक्रेटिक एलायंस (NDA)...
जौनपुर लोकसभा सीट के मतदाता उलटफेर करने में माहिर माने जाते हैं। यहां पांच बार जनसंघ व भाजपा जीती और पांच बार ही कांग्रेस का कब्जा रहा है। दो बार सपा व एक बार बसपा ने भी परचम लहराया है। इस चुनाव में यों तो संसदीय क्षेत्र से 20...
महागठबंधन में जिन सीटों के लिए सहयोगी दलों में जबरदस्त खींचतान हुई, उसमें एक सीट मोतिहारी यानी पूर्वी चंपारण की थी. इसकी वजह यह थी कि इस सीट पर पहले कांग्रेस की दावेदारी थी, क्योंकि इस सीट से कांग्रेस के सीनियर लीडर और कांग्रेस के चुनाव अभियान समिति के...
हरियाणा में सिरसा लोकसभा क्षेत्र की अहम सीट है. सिरसा लोकसभा सीट का गठन 1962 को हुआ था, तब से इस सीट पर बीजेपी को कभी कामयाबी नहीं मिली है. हालांकि कहा जाता है कि इस सुरक्षित सीट को लेकर बीजेपी कभी गंभीर नहीं दिखाई दी, इसलिए 2014 में...
गोरखपुर लोकसभा सीट भाजपा और विपक्ष, दोनों के लिए अहम है. भाजपा के लिए इसलिए कि 1989 से 2014 तक इस सीट पर भाजपा का कब्जा ही नहीं रहा है, हिंदुत्व के एजेंडा को यहां प्रखर बनाने में वह कामयाब भी रही. यह सीट योगी आदित्यनाथ की रही है,...
बहराइच जिले में स्थित कैसरगंज उत्तर प्रदेश के 80 लोकसभा क्षेत्रों में एक संसदीय सीट है और यह 57वें नंबर की सीट है। इस शहर की पहचान खुरमे (मिठाई) के लिए है। अपनी मिठास के लिए मशहूर इस शहर में राजनीति में लगातार उतार-चढ़ाव का दौर रहा है। प्रदेश की...
बस्ती में माना जा रहा है कि राजकिशोर के आने से पिछले कई दशकों से यहां बदतर हालत में चल रही कांग्रेस में फिर से जान आ गई है. साथ ही, यहां अब लड़ाई त्रिकोणीय हो गई है. बस्ती दो ऐसे शहरों से घिरा है, जिनका बीजेपी के लिए...
यूपी की फर्रुखाबाद लोकसभा क्षेत्र में दलित-पिछड़ा-मुस्लिम फैक्टर चलता तो वह बीजेपी के लिए परेशानी होती. लेकिन सलमान खुर्शीद की मुस्लिम मतदाताओं में अच्छी पकड़ मानी जाती है और मुस्लिम वोटर 14 फीसदी हैं. मध्य उत्तर प्रदेश की फर्रुखाबाद लोकसभा मुलायम सिंह यादव के उद्भव के बाद समाजवादी पार्टीमय हो...
कभी पीएम पद का दावेदार रहा ये नेता चार सीटों पर लड़ा था चुनाव, चारों हारा राहुल गांधी के उत्तर प्रदेश के अमेठी के अलावा केरल की वायनाड सीट से चुनाव लड़ने की घोषणा के बाद दो सीटों से चुनाव लड़ने के फैसलों पर सवाल उठ रहे हैं. हालांकि भारतीय...
दो दशक हो चुके हैं। इन 20 वर्षों में लोकसभा स्पीकरों (Lok Sabha Speaker) के साथ एक अजीब संयोग जुड़ गया है। इस दौरान जितने भी लोकसभा स्पीकर (Lok Sabha Speaker) हुए हैं, वे दोबारा लोकसभा में वापसी नहीं कर सके हैं। अलबत्ता, पिछले स्पीकरों के दोबारा लोकसभा नहीं...

Get in touch

41,692FansLike
1,250FollowersFollow
242FollowersFollow

पॉपुलर पठित लेख ⇓