Evergreen Dialogues from Bollywood Movies, SuperHit Dialogues

Evergreen Dialogues from Bollywood Movies

Evergreen Dialogues from Bollywood Movies, SuperHit Dialogues:-

देवदास

“कौन  कम्बख्त  बर्दाश्त  करने  को  पीटा  है?  मैं  तो   पीता  हूँ  के  बस  सांस  ले  सकू  – दिलीप  कुमार

मदर  इंडिया  (1957)

“तू  मुझे  नहीं  मार  सकती , तू  मेरिमा  है   – सुनील  दत्त

“में  पहले  एक  औरत  हूँ ” – नरगिस .

Evergreen Dialogues from Bollywood Movies

मुग़ल -इ -आज़म  (1960)

“अनारकली , सलीम  की  मोहब्बत  तुम्हे  मरने  नहीं   देगी  और  हम  तुम्हे जीने  नहीं  देंगे ” – पृथ्वीराज  कपूर

आनंद  (1970)

“अरे  o  बाबूमोशा i! हम  सब  रंगमंच  की  कठपुतलियां  है  जिनकी  डोर  उपरवाले की  उँगलियों  से  बंधी   हुई  है . कब  कौन  उठेगा  कोई  नहीं  बता  सकता ” – राजेश  खन्ना .

अमर  प्रेम  (1971)

“pushpa  , आई  हेट  टीयर्स ” – राजेश  खन्ना

पाकीज़ह  (1972)

“आपके  पाऊँ  देखे , बहुत  हसीं  है . इन्हे  ज़मीन  पर  मत  उतारियेगा , मैले  हो  जायेंगे ”- राज   कुमार .

Evergreen Dialogues from Bollywood Movies

याददों  की  बरात  (1973)

“kutte  कमीने , मैं  तेरा  खून  पी  जाऊँगा ” – धर्मेंद्र

बॉबी  (1973)

“कोई  प्यार  करे  तो  तुमसे  करे , तुम  जैसे  हो  वैसे  करे . कोई  तुमको  बदल  कर  प्यार   करे  तोः  वह   प्यार  नहीं , सौदा  है ” – ऋषि  कपूर

दीवार  (1975)

“आज  मेरे  पास  गाडी  है , बंगला  है , पैसा  है … तुम्हारे  पास  क्या  है ?” – अमिताभ  बच्चन .

“मेरे  पास , मेरे  पास  माँ  है ” – शशि  कपूर .

शोले  (1975)

“अरे -o  -संभा ! कितने आदमी  थे ?” – अमजद  खान

“तुम्हारा  नाम  kya   hai  बसंती ” – अमिताभ  बच्चन

कालीचरण  (1976)

“सारा  शहर    मुझे  लायन  की  नामसे  जानता  है ” – अजित

डॉन  (1978)

“डॉन  का  इंतज़ार  तो  बारह  मुल्को  की  पुलिस  कर  रही  है , बट  डॉन  को  पकड़ना  मुश्किल  ही  नहीं , नामुमकिन  है ” – अमिताभ  बच्चन

मिस्टर  इंडिया  (1987)

“मोगाम्बो  खुश  हुआ ” – Amrish Puri

शहंशाह  1988)

“रिश्ते  में  to  हम   तुम्हारे  bap लगते  हैं , नाम  hai  शहंशाह ” – अमिताभ  बच्चन

Evergreen Dialogues from Bollywood Movies

मैंने  प्यार   किया  (1989)

“दोस्ती  ka   एक  उसूल  hai  , मैडम  – no  सॉरी , नो  थैंक  u ” – सलमान  खान

बाज़ीगर  (1993)

“कभी  कभी  कुछ  जीतने  की  लिए  कुछ  हारना  भी  पड़ता  है , और  हार  कर  जीतने  वाले  को  बाज़ीगर  कहते  हैं ” शाहरुख़  खान

दामिनी  (1993)

“तारीख  पे  तारीख  मिलती  रही  है  लेकिन  इन्साफ  नहीं  मिलता . milti   है  तो  सिर्फ  तारीख ” – सनी  देओल

दिलवाले  दुल्हनिया   ले  जायेंगे  (1995)

“बड़े  बड़े    शहरों  में  ऐसी  छोटी  छोटी  बातें  होती  रहती  हैं ” – शाहरुख़  खान

रंगीला  (1995)

“उसका  तो  न  बैड   लक  ही  ख़राब  है ” – आमिर  खान

मुन्नाभाई  MBBS  (2003)

“टेंशन  लेने  ka  नहीं , सिर्फ  देने  का ”  – संजय  दत्त

ॐ  शांत i ॐ  (2007)

“एक  chutki   सिन्दूर  की  कीमत  तुम  क्या  जानो  Ramesh  बाबू ” – दीपिका  पादुकोणे

चेन्नई  एक्सप्रेस  (2013)

“डोंट   अरिस्टेमेट  थे  पावर  ऑफ़  थे  कॉमन   men” शाहरुख़  खान

रईस  (2017)

“koi  धंधा  छोटा  नहीं  होता . और  धंधे  से  बड़ा  koi   dharm,  नहीं  होता ” – शाहरुख़  खान

Evergreen Dialogues from Bollywood Movies

Read More:-

अक्षय कुमार के सबसे मशहूर डायलॉग्स

Damdaar Shayari post, दमदार किंग स्टेटस, धाकड़ युवा स्टेटस

Bollywood movie shayari status, Filmi Shayari

Comments

comments