सेक्स और रिवेंज ड्रामा को दिखाती हेट स्टोरी फिल्म के शानदार डायलॉग
सेक्स और रिवेंज ड्रामा को दिखाती हेट स्टोरी फिल्म के शानदार डायलॉग

विक्रम भट्ट अब तक हॉरर बेचते थे, अब उन्होंने सेक्स का सहारा लिया है। हेट स्टोरी की कहानी यही सोच कर लिखी गई है कि इसमें ज्यादा से ज्यादा सेक्स सीन हो। सेंसर बोर्ड ने कुछ काट दिए और कुछ दृश्यों को कम कर दिया।

हेट स्टोरी एक रिवेंज ड्रामा है, जिसमें फिल्म की हीरोइन अपना बदला लेने के लिए अपने जिस्म का इस्तेमाल करती है। काव्या (पाउली दाम) एक पत्रकार है जो एक सीमेंट कंपनी के खिलाफ लेख लिखती है, जिससे उस कंपनी की प्रतिष्ठा को काफी नुकसान पहुंचता है।

उस कंपनी के मालिक का बेटा सिद्धार्थ (गुलशन देवैया) इसका बदला लेने के लिए काव्या को अपने प्रेम जाल में फंसाता है। दोनों सारी हदें पार कर जाते हैं। इसके बाद सिद्धार्थ उसे छोड़ देता है क्योंकि उसने अपना बदला ले लिया है।

बदले की कहानी का जो स्क्रीनप्ले लिखा गया है वो बेहद घटिया और सहूलियत के हिसाब से लिखा गया है। स्क्रीनप्ले की तरह निर्देशन भी कमजोर है। विवेक अग्निहोत्री अपने प्रस्तुतिकरण में वो प्रभाव पैदा नहीं कर पाए कि दर्शक काव्या की बदले की आग की आंच को महसूस कर सके। फिल्म की गति भी उन्होंने जरूरत से ज्यादा तेज रखी है जिससे फिल्म विश्वसनीय नजर नहीं आती।

  1. Kisi ki zindagi tabah karni ho … toh unhe zinda rakhna zaroori hai
  2. I fuck the people who fuck with me!
  3. Shake it, take it and fake it
  4. Jab kisi se badla lene ki thaan lo … toh ek nahi do kabr khod leni chahiye
  5. Jab aurat apni izzat bechne par aa jati hai … toh phir woh kisi bhi aadmi ko khareed sakti hai
  6. Mare hue log kabr se nahin dara karte
  7. Main woh har kaam karti hoon joh mana hai
  8. Politics ka business aur business ki politics … dono ajeeb hai … kab palat jaye pata hi nahi chalta
  9. Shehar badalne se mera shareer toh nahin badlega

READ MORE :

Best Hindi film dialogues Pics, बॉलीवुड फिल्मो के सबसे मशहूर डाएलॉग्स

Comments

comments