पढ़े किस्मत के ऊपर बनीं ये शानदार शायरी जिनको पढ़ कर हो जायेंगे खुश
पढ़े किस्मत के ऊपर बनीं ये शानदार शायरी जिनको पढ़ कर हो जायेंगे खुश

कभी कभी पलट जाती है एकदम से किस्मत पलट जाती है और इन्सान को समझ नहीं आता , कभी समय बहुत अच्छा आता है और कभी समय बहुत ख़राब इसी पर आधारित है ये किस्मत शायरीपढ़े किस्मत के ऊपर बनीं ये शानदार शायरी 

  1. कौन कहता है हम उसके बिना मर जायेंगे
    हम तो दरिया है समंदर में उतर जायेंगे
    वो तरस जायेंगे प्यार की एक बून्द के लिए
    हम तो बादल है प्यार के किसी और पर बरस जायेंगे
  2. लोग कहते है हर दर्द की एक हद होती है
    मोहब्बत की हद्द है सितारों से आगे;
    प्यार का जहाँ है बहारों से आगे;
    वो दीवानों की कश्ती जब बहने लगी;
    तो बहते बह गई किनारों से आगे
  3. खूबिओं से नहीं होती मोहब्बत भी सदा,
    कमियों से भी अक्सर प्यार हो जाता है
  4. लोग कहते हैं,जो दर्द देता है, वही दवा देता है,
    पता नहीं,फ़िज़ूल की बातों को,कौन हवा देता है
  5. चलो अब हक़ीक़त से भी दो-चार होते हैं
    मेरे शहर में ख़ुशी से महंगे त्यौहार होते हैं
  6. जिनके दिल अच्छे होते है न
    उनकी किस्मत ख़राब होती है
  7. जिनसे मिलना किस्मत में न हो,
    उन से मोहब्बत कमाल की होती है
  8. चाहने से कोई चीज़ अपनी नही होती,
    हर मुस्कुराहट खुशी नही होती,
    अरमान तो भूख होती है दिल मे,
    मगर कभी वक़्त तो कभी किस्मत सही नही होती।।
  9. दिल कि बाते कहने को #दिल करता है.
    दर्दे जुदाई सहने को दिल करता है.
    क्या करे किस्मत मे है दुरियाँ वर्ना.
    हमे तो आपके दिल मे रहने को दिल करता है.
  10. फर्क होता है खुदा और फ़क़ीर में,
    फर्क होता है किस्मत और लकीर में..
    अगर कुछ चाहो और न मिले तो समझ लेना..
    कि कुछ और अच्छा लिखा है तक़दीर में !!
  11. कागज़ के नोटों से आखिर
    किस किस को खरीदोगे,
    किस्मत परखने के लिए यहाँ आज भी
    सिक्का ही उछाला जाता है !!
  12. डूबते हैं तो पानी को दोष देते हैं,
    गिरते हैं तो पत्थर को दोष देते हैं,
    इंशान भी क्या अजीब हैं दोस्तों..
    कुछ कर नहीं पाता तो किस्मत को दोष देते है
  13. अब किस्मत ही मिला दे तो मिला दे,
    वरना हम तो बिछड़ गये हैं,
    तूफान में परिंदों की तरह..!!
  14. मेरी किस्मत में है एक दिन गिरफ्तार-ए-वफ़ा होना,
    मेरे चेहरे पे तेरे प्यार का इलज़ाम लिखा है।
  15. किस्मत की लकीरों में नहीं था नाम उसका शायद,
    जबकि उनसे मुलाकात तो हर रोज़ होती थी।

READ MORE :

Comments

comments