Poem on Rape in Hindi – मर्द कभी बलात्कार नहीं करते हैं

poetry about rape victim poem on nirbhaya in hindi hindi poem on girl abuse hindi poem on delhi rape victim best poem on rape in hindi balatkar poem hindi poem on girl harassment slogans on rape victim in hindi

मर्द और बलात्कार विषय पर ये पंक्तियाँ अवश्य पढ़ियेगा:- 

Poem on Rape in Hindi:-

 

“मर्द कभी बलात्कार नहीं करते हैं,
माँ की कोख शर्मशार नहीं करते हैं..

मर्द होते तो लड़कियों पर नहीं टूटते,
मर्द होते तो आबरू उनकी नहीं लूटते..

मर्द हमेशा दिलों को जीतता है,
कुचलना नामर्दों की नीचता है…

बेटियां बहन मर्द के साये में पलती हैं,
मर्द की जान माँ की दुवाओं से चलती है..

 

 

मर्द नहीं फेकते तेज़ाब उनके शरीर पर,
मर्द प्रेम में मिट जाते हैं अपनी हीर पर..

मर्द उनको देह की मंडियों में नहीं बेचता,
मर्द दहेज़ के लिए उनकी खाल नहीं खेचता..

मर्द बच्चियों के नाजुक बदन से नहीं खेलते,
मर्द बेटियों को बूढों के संग नहीं धकेलते…

निर्भया-कांड के बाद क्या बलात्कार बंद हुए !!
कानून तो बदल गये, बस नेताओं से किस्से चंद हुए  !!

अस्सिफा पर जो बॉलीवुड फूट फूट कर रोया था, मंदसौर कि दिव्या पर सारा जहां सोया था !!

होते-होते भारत इतना महान हो गया, अब दोगलों के मुताबिक रेप भी हिन्दू ओर मुसलमान होगया। दोगले चुप है। 

 

Read More:-

Dard Bhari Shayari poem in Hindi, दर्द लाइन्स इन पोएम

पुरानी गर्ल फ्रेंड से भेट हास्य कविता

लेती नहीं दवाई “माँ”, जोड़े पाई-पाई “माँ”, माँ पर सबसे बेहतरीन

कविता-शायद उस दिन, जो हिन्दू होगा एक बार जरुर पढ़े

Comments

comments

REVIEW OVERVIEW
best Hindi poem
Previous article5 Best Website for Government Jobs in India
Next articleSchool life status in Hindi, College doston par status
अपने बारे में क्या लिखूं मित्रो ! सच तो ये है वो लोग ही विछड गए जो जिंदगी थे ! याद रखिये खुदसे बड़ा कोई तुर्रमखां नहीं, क्योंकि एक अनपढ़ गुंडे में इतना Attitude होता है तो हम सब तो हिंदुत्व और जस्टिस के पुजारी है, देशद्रोहियों की बजाते रहिये, यहाँ पधारने के लिए धन्यवाद #जयहिंद