राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से जुड़ा संगठन ‘सेवा भारती’ के जरूरत मंदों की सेवा के लिए विराट कोहली ने वीडियो से की तारीफ

कोरोना वायरस के कारण जहां जीवन अस्त व्यस्त है, सभी अपने अपने घरों में बंद है तो वहीं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से जुड़ी संगठन ‘सेवा भारती’ लगातार जरूरतमंदों तक मदद पहुँचा रही है।

वायरस से रोकथाम के लिए देश भर में 31 मई तक के लिए लॉकडाउन लागू है। इसी क्रम में अब भारतीय कप्तान विराट कोहली ने सेवा भारती के कदमों की सराहना की है।

इसका एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वो कोरोना वायरस महामारी के बीच दिल्ली और देश भर में संकट में फँसे लोगों की मदद करने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के संगठन ‘सेवा भारती’ के प्रयासों की तारीफ करते हुए दिखाई दे रहे हैं।

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने 0.42 एक वीडियो संदेश जारी करते हुए कहा, “हैलो दोस्तों, आपका दिन शुभ हो। आपको हैलो के लिए ये मेरा छोटा सा संदेश है। मुझे आशा हैै कि आप लोग स्वस्थ होंगे। मैं दिल्ली सेवा भारती को बधाई देना चाहता हूँ, जिसने पूरे साल अद्भुत काम किया।”

विराट कोहली आगे कहते हैं, “अब उन्होंने दिल्ली के स्कूलों में अपनी सेवाएँ देने का निर्णय लिया है। जहाँ जाकर वो अपनी सेवा ड्राइव चलाएँगे और दूसरों की मदद करेंगे। तो इसलिए मैं आपसे कहना चाहता हूँ कि आप इसे दिल से और पवित्र उद्देश्य से करें और आप जो सबसे बेहतर कर सकते हैं, वो है दूसरों की मदद, दूसरों की सेवा। मैं आपकी सुरक्षा और स्वास्थ्य की कामना करता हूँ। आपके शुभ कार्यों को देखते हुए ईश्वर आप पर कृपा बनाए रखें।”

गौरतलब है कि दिल्ली में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ काफ़ी काम कर रहा है और लगातार जनसेवा में लगा हुआ है। संघ के संगठन ‘सेवा भारती’ ने पूरी दिल्ली में ग़रीबों को खाना खिलाने से लेकर बेसहारा लोगों को ज़रूरी संसाधन मुहैया कराने के लिए दिन-रात एक किया हुआ है।

दिल्ली में 5000 संघ कार्यकर्ता लगातार लोगों के बीच भोजन बाँटने में लगे हुए हैं। अगर वैसी स्थिति आती है तो रोजाना डेढ़ लाख भोजन के पैकेट वितरित किए जाएँगे। फ़िलहाल 75 हज़ार भोजन के पैकेट रोज बाँटे जा रहे हैं।

पूरी दिल्ली में 45 किचेन काम कर रहे हैं। समाजसेवा में डॉक्टरों और सरकार की सलाहों का भी पूरा ध्यान रखा जा रहा है। सोशल डिस्टन्सिंग का पालन किया जा रहा है। प्रत्येक कार्यकर्ता की जिम्मेदारी है कि वो एक स्थानीय बुजुर्ग की पूरी जिम्मेदारी उठाए और उनकी दवाओं से लेकर भोजन तक का इंतजाम किया जा रहा है।

इसके साथ ही दिल्ली की गायों का भी ध्यान रखा जा रहा है। गौशालाओं का ख्याल रखा जा रहा है। आवारा पशुओं और पक्षियों, जैसे गायों और कुत्तों के खाने-पीने का पूरा इंतजाम किया जा रहा है।

पिछले दिनों पश्चिम दिल्ली के हस्तसाल नगर में जोमी चर्च (Zomi Church) से जुड़े 50 परिवारों के लगभग ढाई सौ सदस्य राशन और खाद्य सामग्री से परेशान थे। इस चर्च में ज्यादातर लोग नार्थ-ईस्ट के लोग, खासकर मिजोरम के निवासी हैं और कई वर्षों से दिल्ली में रह रहे हैं। जानकारी मिलने पर सेवा भारती संगठन के कार्यकर्ता इस चर्च के जरूरतमंद लोगों के पास पहुँचे और उन्होंने राशन तथा अन्य चीजें उपलब्ध करवाईं।

संघ ने 6 मई 2020 को बताया कि वह देश भर के 67,336 स्थानों पर एक साथ राहत-कार्य चला रहा है। आरएसएस के 3,42,319 कार्यकर्ता इस काम में लगे हुए हैं।

संघ न सिर्फ़ लोगों के खाने-पीने का प्रबंध कर रहा है, बल्कि उनके स्वास्थ्य का भी ध्यान रख रहा है। संघ ने अब तक 50,48,088 परिवारों को राशन किट मुहैया कराया है। इतनी बड़ी संख्या में परिवारों तक पहुँचना ये बताता है कि आरएसएस देश के दूर-दराज इलाक़ों में भी कमान थामे हुए है। 6 मई तक कुल 3,17,12,767 भोजन पैकेट्स वितरित किए गए थे। Up

Comments

comments