बीएसएफ से बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव ने हाल ही में उनका शराब पीते वीडियो वायरल होने पर सफाई देते हुए कहा है कि यह 2017 का वीडियो है, जिसे अब वायरल किया जा रहा है। यह बीजेपी की साजिश है, बीजेपी ने पहले मेरा नामांकन रद्द करवाया उसके बाद वीडियो वार किया, अभी देखिए यह क्या-क्या करते हैं। हो सकता है यह मेरे नहाने का भी वीडियो वायरल कर दें।

तेज बहादुर ने बताया कि ये वीडियो दिल्ली पुलिस के सिपाही पंकज शर्मा ने वायरल किया है और ये वीडियो भी उन्हीं के घर का है, अब ये इतनी नीचता पर उतर आए हैं, किसी का सहयोग करो वही पीठ में छुरा भोंक रहे हैं। दूसरे मनोहर लाल हैं, जिनके बुरे समय में मैंने मदद की, आज ये हमें ब्लैकमेल करना चाह रहे हैं। तेज बहादुर ने कहा कि जितने वीडियो बनाना है बना लो हमें किसी का डर नहीं है, क्योंकि हम अपनी जगह सही हैं।

तेज बहादुर यादव ने वाराणसी संसदीय सीट से नामांकन रद्द होने पर चुनाव आयोग के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने का फैसला लिया है। तेज बहादुर ने बताया कि उनके वकील ने चुनाव आयोग के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। सोमवार की शाम तक नतीजे सामने होंगे।तेज बहादुर ने कहा कि भाजपा वाले कितनी भी साजिश रच लें, हम डरने वाले नहीं हैं। मोदी जी देख लें 23 मई को यहां से प्रधानमंत्री जब दूसरा आएगा तब पता लगेगा कि इनके कितने वीडियो आते हैं, ये हम बताएंगे इनको।

बता दें, तेज बहादुर ने पीएम मोदी को चुनौती देने के लिए 29 अप्रैल को नामांकन दाखिल किया था, लेकिन जांच के बाद चुनाव आयोग ने इसे रद्द कर दिया। तेज बहादुर गठबंधन प्रत्याशी शालिनी यादव का समर्थन करने का ऐलान कर चुके हैं और लगातार काशी में शालिनी यादव के लिए डोर-टू-डोर कैंपेनिंग कर रहे हैं।

Comments

comments