अगर आप है तकलीफ में तो पढ़े यह तकलीफ शायरी
अगर आप है तकलीफ में तो पढ़े यह तकलीफ शायरी

आज कल के बिजी लाइफ में इन्सान को हर समय किसी न किसी तकलीफ से गुजरता रहता है और वो अपनी इस तकलीफ को आज के समय में किसी न किसी माध्यम से अपनी फीलिंग व्यक्त करना चाहता है. इसलिए हम आपके लिए लाये है. बेहतरीन तकलीफ शायरी

1. घनी जुल्फों के साये में चमकता चाँद सा चेहरा,
तुझे देखूं तो कुछ रातें सुहानी याद आती हैं।

2. क़यामत टूट पड़ती है ज़रा से होंठ हिलने पर,
ना जाने हश्र क्या होगा अगर वो मुस्कुराये तो।

3. उतरा है मेरे दिल में कोई चाँद नगर से,
अब खौफ ना कोई अंधेरों के सफ़र से,
वो बात है तुझ में कोई तुझ सा नहीं है,
कि काश कोई देखे तुझे मेरी नजर से।

4. ऐ चाँद मत कर इतना गुरुर… तुझमें तो दाग है,
पर मेरे वजूद में जो चाँद सिमटा है वो बेदाग है।

5. उनकी तारीफ़ क्या पूछते हो उम्र सारी गुनाहों में गुजरी
अब शरीफ बन रहे है वो ऐसे जैसे गंगा नहाये हुए है

6. एक लाइन में क्या तेरी तारीफ़ लिखू
पानी भी जो देखे तुझे तो प्यासा हो जाये

7. ये इश्क़ बनाने वाले की मैं तारीफ करता हूं
मौत भी हो जाती है और क़ातिल भी पकड़ा नही जाता

8. भी तारीफ करते हैं, मेरी शायरी की लेकिन
कभी कोई सुनता नहीं, मेरे अल्फाज़ो की सिसकियाँ.

9. तारीफ़ अपने आप की, करना फ़िज़ूल है,
ख़ुशबू तो ख़ुद ही बता देती है, कौन सा फ़ूल है

10. लोग भले ही मेरी शायरी की तारीफ न करे
खुशी दुगनी होती है जब उसे कॉपी पेस्ट में देखता हूं

11. तेरी तारीफ मेरी शायरी में जब हो जाएगी
चाँद की भी कदर कम हो जाएगी

12. कैसी थी वो रात कुछ कह सकता नहीं मैं
चाहूँ कहना तो बयां कर सकता नहीं मैं ,

13. दुल्हन बन के मेरी जब वो मेरी बाँहों में आयी थी
सेज सजी थी फूलों की पर उस ने महकाई थी

14. घूँघट में इक चाँद था और सिर्फ तन्हाई थी
आवाज़ दिल के धड़कने की भी फिर ज़ोर से आयी थी

15. प्यार से जो मैंने घूँघट चाँद पर से हटाया था
प्यार का रंग भी उतरकर उसके चेहरे पर आया था

16. बाँहों में ले कर उसको फिर लबो की लाली चुराई थी
उस सर्द रात में साँसे भी शोला बन कर टकराई थी

17. टिका बिंदी , कंगना , पायल सब ने शोर मचाया था
जब उसके शोख बदन को मैंने हाथ लगाया था

READ MORE :

पढ़िए कॉमेडी करते विलेन प्रकाश राज के बारे में और उनके शानदार डायलॉग

Comments

comments