क्रिकेट विश्व कप का 12वां सीजन शुरू होने में अब गिनती के कुछ दिन बाकी हैं। हर खिलाड़ी, हर टीम और सभी क्रिकेट प्रसंशको ने क्रिकेट के इस मेले में शामिल होने की तैयारी शुरू कर दी है।

30 मई 2019 से इंग्लैंड/वेल्स में क्रिकेट विश्व कप का आगाज हो जाएगा। इस दौरान सभी को हमेशा की तरह एक बार फिर से कई दिलचस्प रिकॉर्ड और पल देखने का इंतजार रहेगा।

लेकिन उससे पहले आईए जानते हैं उन 4 खिलाड़ियों के बारे में जिन्होंने दो अलग-अलग देशों के लिए क्रिकेट विश्व कप खेला था।

1.केपलर वेसल्स – वेसल्स ने 1983 क्रिकेट विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया की टीम की तरफ से खेला तो वहीं उन्होंने 1992 में अपने घरेलू देश दक्षिण अफ्रीका से डेब्यू किया था।

वेसल्स ने ऑस्ट्रेलिया की तरफ से डेब्यू करते हुए जहां 76 रन बनाए थे वहीं अफ्रीका के लिए डेब्यू करते हुए अपनी पुरानी टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 81* रनों की पारी खेली थी।

2. इयोन मोर्गन- इंग्लैंड के मौजूदा कप्तान मोर्गन ने अब तक तीन विश्व कप खेले हैं जिसमें दो बार इंग्लैंड की तरफ से और एक बार आयरलैंड की तरफ से मैदान पर उतरे हैं।

मोर्गन ने 2007 में आयरलैंड की तरफ से डेब्यू वर्ल्ड कप डेब्यू किया था जिसमें उन्होंने 9 मैच खेले थे। उसके बाद वे 2009 में इंग्लैंड चले गए और फिर 2011 और 2015 में इंग्लैंड की तरफ से विश्व कप खेले।
मॉर्गन इस साल होने वाले वर्ल्ड कप में एक बार फिर से इंग्लैंड की तरफ से बतौर कप्तान खेलते दिखेंगे।

3. ईडी जोयस- जोयस ने इंग्लैंड की तरफ से खेलना शुरू किया लेकिन बाद में अपने जन्मस्थान आयरलैंड की तरफ से खेलने चले गए।

जोयस ने साल 2007 में इंग्लैंड की तरफ से विश्व कप खेला तो वहीं 2011 और 2015 में आयरलैंड की तरफ से वर्ल्ड कप में खेलने उतरे।

साल 2015 में जोयस ने अपना पहला वर्ल्ड कप शतक लगाया थे जिसमें उन्होंने जिम्बाब्वे के खिलाफ 112 रन बनाए थे।

4. एंडरसन कमिंस- कमिंस ने 1992 में विंडीज की तरफ से विश्व कप खेला था लेकिन 15 साल बाद साल 2007 में कनाडा से खेलते दिखे थे।

1992 के विश्व कप में कमिंस ने 12 विकेट लिए थे जिसमें इंडिया के खिलाफ उन्होंने 4 विकेट अपने नाम कर मैन ऑफ द मैच बने थे।

कमिंस ने 40 साल की उम्र में एक बार फिर से विश्व कप में वापसी की लेकिन कनाडा की तरफ से जिसमें उन्होंने 3 मैच में सिर्फ 1 विकेट निकाले।

Comments

comments