वो नेता जिसने खड़ा किया सबसे बड़ा समाजवादी आन्दोलन,पढ़े विचार

वो नेता जिसने खड़ा किया सबसे बड़ा समाजवादी आन्दोलन,पढ़े विचार
वो नेता जिसने खड़ा किया सबसे बड़ा समाजवादी आन्दोलन,पढ़े विचार

जेपी से लोकप्रिय प्रसिद्ध समाजवादी नेता जयप्रकाश नारायण का जन्म 11 अक्टूबर 1902 को विजयादशमी के दिन बिहार के सारण जिले के सीताबदियार नामक स्थान में हुआ था. अध्यन के लिए पटना जाने पर उनका परिचय अनेक देशभक्त युवको से हुवा था. 1920 में गाँधी के असहयोग आंदोलन में वे भी सरकारी विद्यालय का अध्यन छोडकर बिहार विद्यापीठ आ गये. वो नेता जिसने खड़ा वो नेता जिसने खड़ा

बाद में कोलकाता की एक संस्था से छात्रवृत्ति मिलने पर वे आगे के अध्ययन के लिए अमेरिका गए और 8 वर्ष तक अमेरिका में रहे. और इससे पहले ही उनका विवाह हो चूका था. उनके विदेश प्रवास के वर्षो में उनकी पत्नी प्रभावती गांधीजी के साबरमती आश्रम में रही थी. अमेरिका में अध्ययन पूरा करने पर जयप्रकाश नारायण को वही अध्यापन का काम मिल गया था. किन्तु माँ की बीमारी की सुचना मिलने पर वे 1929 में भारत वापस लोट आए.

समाजवादी विचारो का अध्ययन उन्होंने अमेरिका में ही किया था. नेहरू जी ने उन्हें कांग्रेस संघटन में श्रमिक एकांक का प्रभारी बना दिया. इसके बाद स्वतंत्रता प्राप्त होने तक जयप्रकाश कांग्रेस के और 1934 के बाद से “कांग्रेस समाजवादी पार्टी” के प्रमुख नेता रहे.

  1. मेरी रुचि सत्ता के कब्जे में नहीं , बल्कि लोगों द्वारा सत्ता के नियंत्रण में है।
  2. एक हिंसक क्रांति हमेशा किसी न किसी तरह की तानाशाही लेकर आई है… क्रांति के बाद , धीरे-धीरे एक नया विशेषाधिकार प्राप्त शासकों एवं शोषकों का वर्ग खड़ा हो जाता है , लोग एक बार फिर जिसके अधीन हो जाते हैं।
  3. ये (साम्यवाद ) इस सवाल का जवाब नहीं देता : कोई आदमी अच्छा क्यों हो ?
  4. अगर आप सचमुच स्वतंत्रता , स्वाधीनता की परवाह करते हैं , तो बिना राजनीति के कोई लोकतंत्र या उदार संस्था नहीं हो सकती। राजनीति के रोग का सही मारक और अधिक और बेहतर राजनीति ही हो सकती है। राजनीति का अपवर्जन नहीं।
  5. सच्ची राजनीति मानवीय प्रसन्नता को बढ़ावा देने के बारे में हैं।

read more :

भानुरेखा गणेशन : वो अभिनेत्री जो नाम बदल कर कमाया नाम ,डायलॉग

Comments

comments