त्तर प्रदेश के 80 संसदीय सीटों में से कुशीनगर संसदीय सीट भी शामिल है. कुशीनगर जनपद भगवान बुद्ध की महापरिनिर्वान स्थली के नाम से पूरे दुनिया में जाना जाता है. कुशीनगर की ऐतिहासिक महत्ता है, रामायण के अनुसार कुशी नगर भगवान श्रीराम के पुत्र कुश की राजधानी था और तब इसका नाम कुशावती था. कुशीनगर में उत्तर भारत का इकलौता सूर्य मंदिर है. फिलहाल यहां राजनीतिक दृष्टिकोण से देखा जाए तो कुशीनगर लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के राजेश पांडे उर्फ गुड्डू सांसद हैं.
कुशीनगर संसदीय सीट 2008 में अस्तित्व में आई. 2009 में कुशीनगर को लोकसभा का दर्जा मिला और कांग्रेस ने खाता खोला था. साल 2009 में इस बार बीजेपी ने विजय कुमार दुबे तो सपा-बसपा गठबंधन ने नथुनी प्रसाद कुशवाहा और कांग्रेस को रतनजीत प्रताप नारायण सिंह को मैदान में उतारा है. माना जाता है कि इस बार यहां की टक्कर बेहद रोमांचक होने वाला है.
कुशीनगर लोकसभा सीट में पांच सीटें आती हैं, जिनके नाम खड्डा, हाटा, पडरौना, रामकोला और कुशीनगर, जिसमें रामकोला की विधानसभा सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हैं.
साल 2014 में किस पार्टी को मिले कितने वोट
बीजेपी: राजेश पांडे ( गुड्डू), 3,70,051 वोट मिलें.
कांग्रेस: आरपीएन सिंह, 2,84,511 वोट मिलें.
बीएसपी: डॉ संगम मिश्रा, 1,32,881 वोट मिलें.
एसपी: राधे श्याम सिंह, 1,11,256 वोट मिलें.
आबादी
2011 की जनगणना के मुताबिक कुशीनगर की आबादी लगभग 35.6 लाख है. जिनमें पुरुषों की संख्या 18,18,055 लाख पुरुष और महिलाओं की संख्या 17,46,489 लाख है. वहीं साल 2014 में 1680992 मतदाताओं ने हिस्सा लिया था. जिसमें 55 प्रतिशत पुरुष और 44 प्रतिशत महिलाएं शामिल थीं.
गौरतलब हो कि इस बार के चुनाव में तकरीबन 90 करोड़ मतदाता अपने मत का प्रयोग करेंगे. इस बार के लोकसभा की 543 सीटों के लिए मतदान 11 अप्रैल, 18, 23, 29 अप्रैल और 6, 12 मई तक हो चूका है वहीं 19 मई अंतिम चरण का चुनाव होंगे हैं और मतगणना 23 मई को की जाएगी.

Comments

comments